ज़ारा

आप कब आये यहाँ ? मैं मालवीय नगर में एक जॉब करती थी। काम के बाद शादी की और यहाँ आ गयी। मैं शॉप पे काम करती थी जो गिफ्ट का शॉप था । 13 साल मेरी शादी हो गई। शादी के बाद बेटी हुई, मैंने फिर जॉब करना शुरू कर दिया। उस समय का... Continue Reading →

रजनी जी से एक मुलाकात

मेरा नाम रजनी है। और मैं मेरा परिवार खिडकी विल्लेज में एक साथ रहती हूँ। आज के भाग दौड भरी जिन्दगी में मैं बाहर काम करने के साथ साथ, घर का और परिवार का ख्याल भी रखती हूँ और जीन्दगी बीता ही हूँ। आप की शादी कब हुई थी ? मेरी शादी 1996 में हुई... Continue Reading →

सुनीता जी के ब्यूटी पार्लर

हैलो, आप का नाम क्या है ? मेरा नाम सुनीता है। मैं खिडकी विल्लेज में रहती हूँ। चैदह साल हो गया है इस जगह पर। आप क्या करती है ? मैं घर का काम और उसके साथ ज® घर में ही पार्लर खोला है, उसे चलाती हूँ। आप ने पार्लर क्यों खोला ? क्या कोई... Continue Reading →

लता जी

मैं पहले कही बाहर नहीं जाती थी, घर में ही रहती थी। मुझे यहाँ के बारे में कुछ पता नहीं था। आप कहा से है ? मैं बरेली से हुँ। यहाँ मै 2002 में आई। जब मेरे हस्बैंड यहाँ आये तो रिक्शा चलाते थे। वो शुरू में यहाँ 1984 में आये। इस से पहले वो... Continue Reading →

बुशरा

जब मैं 10 साल की थी तब मेरे पिताजी गुजर गए मोदी हॉस्पिटल में। उनकी मौत कैंसर से हुई थी। मेरा सब से छोटा भाई तब डेढ साल का था। मैं अपने घर में सबसे बड़ी थी। मेरे पापा की पर्चुन की दुकान था। मेरे ऊपर जिम्मेवारी आई क्योंकि मेरी मम्मी बहुत सीधी थी। किसी... Continue Reading →

Create a website or blog at WordPress.com

Up ↑